Quote # 251

वक्त नूर को बेनूर कर देता है

छोटे से ज़ख़्म को नासूर बना देता है

कौन चाहता है अपनो से दूर

पर हालात मजबूर करवा देता है


आपकी आभारी विमला विल्सन

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements