नारी हूँ व अपने अंदाज से सजना संवरना है मुझे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 372)

नारी हूँ व अपने अंदाज से सजना संवरना है मुझे

हर नारी खूबसूरत दिखने के लिये सजना संवरना चाहती है ।

मै भी नारी हूँ व खूबसूरत दिखना चाहती है पर अपने अंदाज व अपनी शर्तो पर,अपनी संतुष्टि के लिए ।

मै खूबसूरत लगना चाहती हूँ पर दूसरों की अपेक्षाओं पर बने रहने के लिए, वाह वाह पाने के लिए या अपना status maintain करने के लिये नही बल्कि इसलिये कि मै स्वयं से प्यार करती हूँ ,मुझे अपनी खूबसूरती से प्रेम है , मै स्वयं को तरोताज़ा महसूस कर सकूँ ।

मै समाज,परिवार और लोगो के सामने शो पीस बनकर नही बल्कि सम्मान के साथ अर्थपूर्ण जीवन जीने के साथ खूबसूरत दिखना चाहती हूँ ।

मै रंग या सुंदर आकर्षक चेहरे या क़द काठी से नही बल्कि स्वयं की दृष्टि मे खूबसूरत स्त्री महसूस करने के लिये खूबसूरत दिखना चाहती हूँ

मै लोगो के सामने बनावटी चेहरा या बडे कद मे रहकर नही बल्कि हरदम सौम्य व मुस्कराहट भरे चेहरे के साथ , छोटे कद मे रहकर खूबसूरत दिखना चाहती हूँ

सभी मुझे खूबसूरत काया की वजह से नही बल्कि इसलिए प्यार करते हैं मै सबके प्रति आदर व स्नेह का भाव रखती हूँ । सभी को समानता का दर्जा देती हूँ ।सॉरी या थैंक्स बोलने मे कंजूसी नही करती हूँ । हर इंसान को खुदा का बंदा समझती हूँ ।

आजकल अधिकांश लोग ग्लेमर की दुनिया के खूबसूरत चेहरे की तरह अपने आप को दिखाने का प्रयास करते है ,पर हमारी हकीकत की दुनिया,ग्लेमर की दुनिया से एकदम अलग है । ग्लेमर की दुनिया मे जो खूबसूरत चेहरे दिखाई देते हैं उनको वैसा दिखाने के लिए कई लोगो की टीम काम करती है जो उनका खान पान और दिनचर्या निर्धारित करती है। घंटो का मेकअप किया जाता है । उनकी एक एक फोटो को सुंदर दिखाने के लिये काम किया जाता है । उन्हें अपने कार्य क्षैत्र मे टिके रहने के लिये ये सब करना आवश्यक होता है । उन जैसा बनने की कोशिश ना करके अपनी नजर मे खूबसूरत बने रहने की कोशिश करे ।

दोस्तो कभी भी जिस्म के आधार पर खूबसूरती का आकंलन नही करना । सुंदरता कभी भी रंगरूप , कदकाठी और उम्र पर निर्भर नही करतीबल्कि असली खूबसूरती मन के भावो और heartily व्यवहार , प्रेम के आधार पर होती हैं। प्रेम अपने आप मे ही खूबसूरत है। हकीकत मे जिस्म की ख़ूबसूरती हमारे दिल की खूबसूरती से ज्यादा अच्छी नही हो सकती । जिन्दगी का लक्ष्य बनाओ , आत्मविश्वास बढ़ाओ व खिलाड़ी बनकर अपना लक्ष्य हासिल करो । प्राप्त सफलता की मुस्कान और आत्म गौरव की चमक से आपकी असली खूबसूरती झलकेगी ।वही आपकी असली खूबसूरती और पहचान है ।


आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद
🙏🙏

लिखने मे गलती हो तो क्षमायाचना 🙏🙏

picture taken from google

Advertisements