Quotes # 215,216,217,218

आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quotes # 205,206,207,208,209,210,211,212,213,214

किसीभीलड़कीकोवहचाहेविवाहितहोयाअविवाहितछेड़नापापहै …. आजकलआधुनिकजमानेमेबिंदीवसिंदूरलगानेकीपरंपरागुलहोतीजारहीहैजोविवाहितहोनेकोभीदर्शातीहै …..इसपोस्टकाआशयइसपरंपराकोजीवितरखनाहै आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 all picture taken from google

जिन्दगी की भागदौड़ # जिंदगी की किताब (पन्ना # 369)

🔸ज़िन्दगी की भागदौड़ में उम्र कैसे बीत गई पता ही नही चला यारों 🔸उंगली पकड़ कर चढ़ने वाले बच्चे कंधे तक कब आ गए पता ही नहीं चला 🔸साइकिल के पैडल ,स्कूटर की किक मारते मारते कैसे कारों में सैर करने लगे पता ही नहीं चला 🔸कभी हम थे माँ बाप की जिम्मेदारी, आज हम…

हाथ से भोजन करने का वैज्ञानिक कारण # जिंदगी की किताब (पन्ना # 368)

आजकल कई लोग पाश्चात्य सभ्यता का अनुकरण करते हुये हाथ से भोजन करने की बजाय चम्मच कॉटे छुरी का इस्तेमाल करते है व इसमे अपनी शान समझते है । लेकिन हमारे बुज़ुर्ग लोगो ने भोजन करने के लिये चम्मच कांटे की बजाय हाथ से भोजन करने को ज्यादा महत्व दिया । हाथ से भोजन करने…

आओ कुछ ऐसा करे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 367)

प्रेरक कथा आओ कुछ ऐसा करे …. रामू मिल का चौकीदार था ,उसकी ये खासियत थी कि वह मिल मे काम करने वाले हर व्यक्ति को कभी भी आते जाते समय good morning या good night या सलाम , नमस्ते जरूर करता ,चाहे वह आदमी कोई भी पद पर हो । उसका ऐसा heartily बोलना…

दर्द का अहसास # जिंदगी की किताब (पन्ना # 366)

दर्द का अहसास….. आज गुड़िया शादी के बाद पहली बार ससुराल से मायके मे कुछ दिनों के लिये आ रही थी ,पूरे घर मे चहल पहल थी ।इकलौता भाई बाहर से उसकी मनपसंद की वस्तुये ला रहा था ,तो भाभी उसके पसंद की खाने की चीज़ें बना रही थी । ट्रेन आने के समय से…

एक ऐसा डाईवॉर्स जिसके होने के बाद दिमाग ने नही दिल ने गवाही दी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 365)

आज कुछ काम से court मे जाना हुआ , वक़ील साहब के आने मे टाईम था । पास मे बैठे एक व्यक्ति ने बात करते समय बताया कि वह अपनी तलाक की पहली पेशी के लिये यहॉ आया है । तलाक का कारण सुनकर मैने कहा कि आप जैसा ही क़िस्सा मेरे अज़ीज़ दोस्त के…

मृत्युभोज के नाम एक संदेश # जिंदगी की किताब (पन्ना # 364)

🔸जिस घर मे पुत्र शोक पर क्रंदन कर रहे मॉ पिता वहॉ भोजन का निवाला तुम्हे कैसे भाता होगा ? 🔸जिस घर मे सूनी मॉग लिये रोती बिलखती विधवा युवती वहॉ बडे चाव से पंगत खाते हुये तुम्हे ज़रा भी पीड़ा नही होती ? 🔸जिस घर मे रक्षा सूत्र लिये बहना अपने भाई की याद…

बडे बुज़ुर्ग की जुबानी गुजरे जमाने की कहानी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 363)

बडे बुज़ुर्ग की जुबानी गुजरे जमाने की कहानी आज भी रूह को छू जाती है 🔘Black n white जमाने मे शर्म से ही चेहरा गुलाबी हो जाता था Parlour गये बिना ही चेहरा चमकाहट से भर जाता था जाने क्यो अब parlour जाकर भी वैसा चेहरा चमकाना मुश्किल हो जाता है 🔘Black n white जमाने…

मन का आईना # जिंदगी की किताब (पन्ना # 362)

मन का आईना ….. एक नगर में राजा था जिसके पास अपार सम्पति,सोना चॉदी और हीरे जवाहरात थे । दिल का बहुत अच्छा था ।हमेशा लोगो की भलाई के लिये सोचता रहता था ।कोई भी उसके द्वार से खाली हाथ नही लोटता था ।साथ में वह नयी नयी चीजो को बनवाने का शौकीन था ।लेकिन…