Quotes # 136

हित चाहने वाला भी पराया है और अहित करने वाला भी अपना भी पराया है । रोग अपनी देह मे पैदा होकर हानि पहुचॉते है और औषधि वन मे भी पैदा होकर भी हमे लाभ ही पहुँचाती है॥


आपकी आभारी विमला विल्सन

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements

2 Comments Add yours

  1. Madhusudan says:

    वाह क्या खूब उदाहरण दिया है।रोग अपनी देह मे पैदा होकर हानि पहुचॉते है और औषधि वन मे भी पैदा होकर भी हमे लाभ ही पहुँचाती है॥

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s