Holi # Quote # 104

Happy holi to all

आओ आज रिश्तो पर कुछ ऐसा रंग लगाएँ

जिससे भीग जाये हर शब्द, पर अर्थ बहने न पाये


रंगो की पिचकारी से

खुशी की बौछार हो

प्रेम के गुलाल

से गाल लाल लाल हो

मिठास वाली वाणी

से दिल बाग बाग हो

अहं के दहन से

दुखो का नाश हो

उदासी ,बेरंग जीवन से

कलरफुल लाइफ हो


जो देह के संग रूह को रंग दे

वही बड़ा रंगरेज

all picture taken from google


आभारी आभारी विमला विल्सन

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements

2 Comments Add yours

  1. navujala says:

    Lovely poem

    On 28-Feb-2018 10:04 PM, “Rangbirangay vichar (विमला की कलम )” wrote:

    > Vimla wilson Mehta posted: “Happy holi to all आओ आज रिश्तो पर कुछ ऐसा रंग
    > लगाएँ जिससे भीग जाये हर शब्द, पर अर्थ बहने न पाये रंगो की पिचकारी से खुशी
    > की बौछार हो प्रेम के गुलाल से गाल लाल लाल हो मिठास वाली वाणी से दिल बाग बाग
    > हो अहं के दहन से दुखो का नाश हो ”
    >

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s