ईश्वर से याचना क्यों,क्या भरोसा नही ?# जिंदगी की किताब (पन्ना # 328)

ईश्वर से याचना क्यों , क्या भरोसा नही ? कहने को तो हम ईश्वर को याद करने के लिये मंदिर मे जाते है ,जप , तप , पूजा पाठ आदि क्रियाये करते है जो कही से गलत भी नही है लेकिन उस समय हमारा ध्यान रहता है कि हे प्रभु मुझे अच्छे अंकों से परीक्षा…

आध्यात्मिक बात # Quote

duniya ek saray hai jismay aate jaate musafir chahey raja ho ya rank sabka ek hi antim padav hai ,maut jise nakara na sakta isaliye har samay mast raho, vyast raho hasatey raho , hasaate raho दुनिया एक सराय है जिसमे आते जाते मुसाफिर चाहे राजा हो या रंक सबका एक ही अंतिम पड़ाव है…