दिखावे की मानसिकता # जिंदगी की किताब (पन्ना # 320)

दिखावे की मानसिकता सुनंदा सुबह से भागदौड़ कर रही थी ,क्योंकि उसकी बेटी की शादी आज से ठीक दस दिन बाद होने वाली थी । वह विवाह की ढेर सारी तैयारी करने मे जुट गयी । घर मे रोज के काम के लिये कामवाली थी पर ऐसे अवसर पर एक कामवाली से पूरा काम होना…

बेटा बेटी # Quote

beta dhan kamata hai beta ka maan hai is duniya mai beti rishtey banaati hai beti ka kyu maan nahi ? arey batao duniya wallo beti kya santaan nahi ? बेटा धन को कमाता है बेटे का मान है इस दुनिया मे बेटी रिश्ते बनाती है बेटी का क्यूँ मान नही ? अरे बताओ दुनिया…