Quote # 97

आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements

पॉजिटिव सोच यानि सकारात्मक सोच – काफी कुछ कह देता है ये शब्द के ज़रिये # जिंदगी की किताब (पन्ना # 323)

पॉज़िटिव सोच हमे अपने जीवन के हर मोड़ पर सकारात्मक कुछ देता है । अंग्रेज़ी के आठ अक्षरों से मिलकर बने पॉज़िटिव शब्द को अपना दोस्त बनाने पर जहॉ वह हमे सकारात्मक दिशा की और ले जाता है वही अपने आठ अक्षरों के ज़रिये हमे बहुत कुछ कहता है , बहुत कुछ समझाता है जो... Continue Reading →

Quote # 95

“ऊँ साई राम” 🌹🌹”जय जय साई राम” "सबका मालिक एक" जय सच्चिदानंद 🙏🙏 आपकीआभारी विमला विल्सन

दो बूँद शहद जिन्दगी के लिये # जिंदगी की किताब (पन्ना # 322)

दो बूँद शहद जिन्दगी के लिये .... शहद चाहे वह खानपान से संबंधित हो या चिकित्सा या सौन्दर्य से संबंधित हो । इसमें प्रचुर मात्रा के गुण होते है जो शरीर के लिये उपयोगी है । गुण - यह कभी खराब नही होता । इसमे पाई जाने वाली शर्करा आसानी से पच जाती है ।रोजाना... Continue Reading →

Quote # 94

duao ka koi rang nahi hota lekin jab ye rang laati hai to jindagi rangon se bhar jaati hai . दुआओं का कोई रंग नहीं होता लेकिन जब ये रंग लाती है तो ज़िंदगी रंगों से भर जाती है!

अमूल्य श्वासों की कीमत पहचाने जिंदगी की किताब (पन्ना # 321)

अमूल्य श्वासों की कीमत पहचाने ,एक एक श्वासों की कीमत कीजिये मान लो यदि हमे कोई इंसान उपहार मे ऐसी वस्तु देता है जिसका हमे मालूम नही है कि उसका उपयोग कैसे करना है तो वह वस्तु हमारे लिये व्यर्थ हो जायेगी । इसी तरह हमे भी ईश्वर द्वारा एक अमूल्य उपहार मिला है वह... Continue Reading →

Quote # 93

kam khaiye, gum khaiye aur nam ho jaiye kyo ki naginay aakhir usi soney me jada karte hai jo num hote hai . कम खाइये, गम खाइये और नम हो जाइये क्योंकि नगीने आख़िर उसी सोने मे जड़ा करते है जो नम होते है । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

दिखावे की मानसिकता # जिंदगी की किताब (पन्ना # 320)

दिखावे की मानसिकता सुनंदा सुबह से भागदौड़ कर रही थी ,क्योंकि उसकी बेटी की शादी आज से ठीक दस दिन बाद होने वाली थी । वह विवाह की ढेर सारी तैयारी करने मे जुट गयी । घर मे रोज के काम के लिये कामवाली थी पर ऐसे अवसर पर एक कामवाली से पूरा काम होना... Continue Reading →

Quote # 92

beta dhan kamata hai beta ka maan hai is duniya mai beti rishtey banaati hai beti ka kyu maan nahi ? arey batao duniya wallo beti kya santaan nahi ? बेटा धन को कमाता है बेटे का मान है इस दुनिया मे बेटी रिश्ते बनाती है बेटी का क्यूँ मान नही ? अरे बताओ दुनिया... Continue Reading →

Quote # 91

shabdon ki kalam ho prem ki syaahi ho dil ki jubani ho kahani humari ho jise padhey duniya sari aisi koi khaas baat ho . शब्दों की कलम हो प्रेम की स्याही हो दिल की जुबानी हो कहानी हमारी हो जिसे पढें दुनिया सारी ऐसी कोई खास बात हो । आपकी आभारी विमला विल्सन जय... Continue Reading →

संस्कार # जिंदगी की किताब (पन्ना # 319)

आज की भोगवादी संस्कृति ने उपभोगवाद को जिस तरह से बढ़ावा दिया है ,उससे बाहरी चमक दमक से ही इंसान को पहचाना जाता है जिसका परिणाम अच्छा नही है । वास्तव मे इंसान की पहचान संस्कारों से बनती है जो हमारे जीवन की शक्ति है । संस्कार उसके पूरे जीवन को दर्शाते है । उच्च... Continue Reading →

Blog at WordPress.com.

Up ↑