चिन्ता # जिंदगी की किताब (पन्ना # 314)

आजकल हर इंसान कुछ ना कुछ चिन्ता से पीड़ित है ,किसी को अपने परीक्षा के परिणाम की चिन्ता , किसी को बच्चों की शादी की , ग़रीबों को रोटी की चिंता , बेरोज़गार को रोजगार की चिन्ता ,सत्ताधारी को अपनी सता की चिन्ता,किसी को उधार दिये पैसे की चिन्ता ….. ऐसे ही कितनी अनगिनत बातों…