बेटियॉ # Quote

Baarish mein chaatay ki tarah hoti hai betiya Maa baap dukhi hein toh roti hai betiya Phir bhi duniya waale kyun kehte hai Boj hoti hai betiya. आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 Advertisements

रिश्ते # जागृति # Quote

Rishto ko thand lagnay ka khatra ho toh garmahat ke liye kuch der khamoshi ki shawl odh lene mein koi harz nahi. आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

चिन्ता # जिंदगी की किताब (पन्ना # 314)

आजकल हर इंसान कुछ ना कुछ चिन्ता से पीड़ित है ,किसी को अपने परीक्षा के परिणाम की चिन्ता , किसी को बच्चों की शादी की , ग़रीबों को रोटी की चिंता , बेरोज़गार को रोजगार की चिन्ता ,सत्ताधारी को अपनी सता की चिन्ता,किसी को उधार दिये पैसे की चिन्ता ….. ऐसे ही कितनी अनगिनत बातों…

Good message # Quote

Confidence does not come when you have all the answers,but it comes when you are ready to face all the questions. Have a nice day Jay sat chit anand 🙏🙏 Jay sat chit anand 🙏🙏

इंसान कुल से नही चरित्र से महान होता है # जिंदगी की किताब (पन्ना # 313)

इंसान कुल से नही चरित्र से महान होता है । एक बार रोम के महान दार्शनिक सिसेरी को एक उच्च कुल का घमंडी व्यक्ति मिला व बोला कि तुम तो नीच कुल के हो । हम दोनो की क्या बराबरी ? दार्शनिक ने बड़ी विनम्रतापूर्वक जवाब दिया -“ मेरे कुल की कुलीनता का आरम्भ मुझसे…

बेटियॉ # Quote

Betiya beto se jayda bhagyashali hoti hai Kyoki beta ek kul ka deepak prakashit karta hein,jabki betia toh doo kul ki dehari ke deepak ki tarah hoti hai joh bhitar bhi prakash phalati hai va baher bhi prakash phalati hai आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

आत्मविश्वास # जिंदगी की किताब (पन्ना # 312)

आत्म विश्वास जगाने के कुछ छोटे छोटे व्यावहारिक तरीके …. 1. पहला मंत्र – फुर्ती ,आत्मविश्वास का पहला मंत्र है । दिन की शुरूआत स्फुर्ति के साथ करे । जैसे ही सुबह ऑंख खुले ,प्रभु का स्मरण करते हुये सुस्ती छोड़कर फुर्ती के साथ बिस्तर व तकिया को अपने से अलग करे । 2. दूसरा…

मॉ # Quote

maa va kshama ,dono ek hai kyonki maaf karane me dono ek hai आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

मनुष्य की कीमत # जिंदगी की किताब (पन्ना # 311)

कभी कभी इंसान अपने आप से इस क़दर हार जाता है कि वह अपने आप को मूल्यहीन समझने लगता है पर ऐसा सही नहीं है । हर इंसान में कुछ ना कुछ खूबी या विशेषता ज़रूर होती है ,जरूरत है तो उस ख़ूबी को पहचानने की । ठीक एक लोहे की छड़ की तरह –…

सच बात # Quote

You yourself are the judge, you yourself are the lawyer, you yourself are the defendant. Now tell me, what kind of judgment will be passed? आप खुद ही ‘जज’, आप खुद ही वकील, आप खुद ही आरोपी। बोलो, अब कैसा ‘जजमेन्ट’ आएगा? તમે પોતે જ ‘જજ’, તમે પોતે જ વકીલ, તમે પોતે જ આરોપી. બોલો,…