रिश्ते नाते # जिंदगी की किताब (पन्ना # 393)

जब हम फटे हुए दूध से रसगुल्ले बना सकते हैं, तो टूटे हुए रिश्तों को फिर से क्यों नहीं जोड सकते ।रूठे हुये को क्यों नही मना सकते ।पॉजिटिव सोच हो तो बंजर भूमि में भी फूल खिलाए जा सकते हैं। बिना इंतजार किये मोबाइल उठाये और सामने वाले से खुद आगे बढ़कर फोन करे…

आत्मशक्ति # जिंदगी की किताब (पन्ना # 392)

आत्म शक्ति …. यह शरीर आत्मा के सहारे ही टिका है ।शरीर मे जो कुछ भी होता है वह वह सब कुछ आत्मा की शक्ति के बदौलत होता है । ये सब कुछ चर्म चक्षुओ से नही बल्कि अपने भीतर गहराई से उतरने पर महसूस होगा । आत्मा तो अनंत शक्ति वाला है पर इस…

मॉ # बाप # बेटी #Quote

मॉ बापू एक वादा करो तुम मुझे दहेज की पोटली के संग नही दुआ, ख़ुशियों की डोली के संग विदा करना आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏