शादी का लड्डू खाया जाये ना खाया जाये # जिंदगी की किताब (पन्ना # 379)

शादी का लड्डू खाया जाये ना खाया जाये हमेशा कहा जाता है शादी का लड्डू खाये तो पछताये ना खाये तो पछताये पर शादी का लड्डू खाने के लिये नही बॉटने के लिये होता है पारिवारिक दूरियों को पाटने के लिये होता है । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 Advertisements