कड़वी बात # Quote

Bimari ke liye Khaney ki milawat ko hi dosh kyun dete ho Doston? Zyada asar toh dil ki milawat ka ho raha hein आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 Advertisements

आश्रितों के साथ व्यवहार पर विचार # जिंदगी की किताब (पन्ना # 372)

आश्रितों के साथ व्यवहार पर विचार …… यदि कोई हमारे ऊपर कोई आश्रित है या हमारे अधीन कार्य करता है । चाहे यह बात घर परिवार मे हो या व्यवसाय या नौकरी मे , किसी भी क्षैत्र मे हो ,जो स्वामी सेवक से संबंध रखती हो । उन दशाओ मे इंसान अपने ऊपर आश्रित व्यक्ति…

खुशियॉ # लफ्ज

1. खुशियों के लिए क्यों करे किसी का इंतज़ार, हम ही तो हो अपने जीवन के कलाकार । 2. ख़ुशियाँ मिले ना जंगल में, ना मिलें शहर ,गॉव ,हाट बाजार मे अपने भीतर ढूंढ लो मिल जायेगी दिल की छॉव मे । 3. ना खुशी खरीद पाता हूँ ना गम बेच पाता हूँ, फिर भी…