लफ्ज # परिवार और रिश्ते

1. सिसक सिसक कर रो उठा , जब सारा घर परिवार जिस दिन उठवाई गई , ऑगन मे दीवार Sisak sisak kar roo utha , jab sara ghar pariwar Jis din uthawi gayi, aangan mein diwar 2. दूसरे के घर देर तक , बनो नही मेहमान मिलता है सम्मान के बदले ,फिर अपमान Dusray ke…

प्रेरणादायी विचार # Quote

रूक ना राही निरंतर चलते रहना अपनी मंजिल की और चलते रहने से ही बनेगी पगडंडियाँ आपकी आभारी विमलाविल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quotes of the day # gnan daan #

Money is needed for everything, but a donation of money for gnan daan ( charity of right knowledge ) is the highest – Dadabhagwan

नारी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 346)

देख नारी की हालत ,छलनी हो जाता है सीना , पैसा ,पद के दम पर,नारी की आबरू को छीना पैसो के जो लालची , सौदेबाज़ी करते ना थकते जैसे लडकी तो गुडिया है , खाने की पुडिया है बनते फिरते दु:शासन ,आज चीर सब हरते मॉ का मान भूल गये , अय्याशी मे डूब गये…

Quotes of the day # ego

Worrying is the greatest egoism – Dada bhagwan Vimla wilson Jay sat chit anand 🙏🙏

यात्रा का अनुभव # जिंदगी की किताब (पन्ना # 344)

मै अपनी क्रूस यात्रा का अनुभव सबसे शेयर करना चॉहूंगी ये यात्रा एक यादगार यात्रा थी । मै अपने पति व बच्चो के साथ वेनिस से ग्रीस तक क्रूस यात्रा की थी । यह मेरी जिन्दगी की सबसे अमूल्य अद्भुत यात्रा थी ,क्योकि वह यात्रा ज्ञानी संत पुरूष के साथ थी । इस यात्रा मे…

सोच # जिंदगी की किताब (पन्ना # 345)

सब कहते है कि तुम क्या लेकर आये थे और क्या लेकर जाओगे , लेकिन दोस्तो ! मेरा मानना है कि यदि हमने किसी का दिल दुखाये बिना हँसी खुशी से पूरी जिन्दगी को जी लिया तो खाली हाथ ही सही पर हम सब दिल मे चैन व शुकुन जरूर भरकर ले जायेंगे । आपकी…

लफ्ज # धार्मिकता # जागरूकता

1.भगवान को खोजने वाले को भगवान दर्शन नहीं देते परंतु भगवान में खो जाने वाले को भगवान दर्शन जरूर देते हैं । 2. व्यापार मे धर्म करो धर्म मे व्यापार नही । 3. धर्म करने के लिये शहर, गॉव या जंगल ,कही पर भी जाने की जरूरत नही है क्योकि वस्तुत: धर्म न गॉव मे…

हाथ से भोजन करने का वैज्ञानिक कारण # जिंदगी की किताब (पन्ना # 343)

picture taken from google आजकल कई लोग पाश्चात्य सभ्यता का अनुकरण करते हुये हाथ से भोजन करने की बजाय चम्मच कॉटे छुरी का इस्तेमाल करते है व इसमे अपनी शान समझते है । लेकिन हमारे बुज़ुर्ग लोगो ने भोजन करने के लिये चम्मच कांटे की बजाय हाथ से भोजन करने को ज्यादा महत्व दिया ।…

हिम्मत ना हार # जिंदगी की किताब (पन्ना # 342)

तु तकदीर को हरदम क्यो रोता है इंसान हिम्मत से चलता चल तदबीर को बना ले साथी हिम्मत का भगवान हिमायती ऐसी वो अद्भुत शक्ति है जिसका वार ना जाता ख़ाली चलाकर तो देख हिम्मत के इस तीर को अगर पुरूषार्थ तजकर के ऑसू यूँ ही बहायेगा सुनहरा समय बीत गया तो पीछे कौन पछतायेगा…

आधुनिकता के नाम पर # गर्भपात # जिंदगी की किताब (पन्ना # 341)

पाश्चात्य संस्कृति के बढ़ते प्रभाव से भारतीय संस्कृति की पवित्रता के साथ गरिमा खंडित होती जा रही है । ऐसे विषमय वातावरण से आचार शुद्धि की नींव दिन पर दिन खोखली व कमज़ोर होती जा रही है । अब तो जागो इंसानो कब तक यूँ ही सोते रहोगे आधुनिकता के नाम पर करोड़ो बच्चो की…