सब कार्य विधी विधान # जिंदगी की किताब (पन्ना # 324)

एक बहुत ही प्रेरक प्रसंग पढ़ा जिसको आप सबसे शेयर करना चाहूँगी …… एक बार पवन पुत्र हनुमान जी  ने प्रभु श्रीराम से कहा कि अशोक वाटिका में जिस समय रावण क्रोध में भरकर तलवार लेकर सीता माँ को मारने के लिए दौड़ा, तब मुझे लगा कि इसकी तलवार छीन कर इसका सिर काट लेना…

मेरा अनुभव -कर्म और नसीब # जिंदगी की किताब (पन्ना # 323)

मै अपना अनुभव बताना चाहूँगी कि यदि नसीब मे लिखा है तो उसे कोई छिन नही सकता और ना लिखा हो तो कोई भी लेकर चला जायेगा ।  हम एयरपोर्ट पर अपनी बेटी को लेने पहुँचे वहॉ पर पार्किंग की समस्या होने पर जल्दी जल्दी के चक्कर मे गाड़ी तक पहुँचते पहुँचते बेटी की जींस…