भक्ति -असली या मान पाने के लिये- जिंदगी की किताब (पन्ना # 6)

भक्ति – असली या मान पाने के लिये … भक्ति दिखावे के लिये करने से कोई लाभ नही होता हैं उसको ह्रदय से एकांत में स्मरण करने से ही हमें लाभ होता है।आज के युग में असली और दिखावे दोनो तरह की भक्ति करने वाले भी लोग है। कई लोग इतनी ऊंची आवाज में जानबूझकर…