लफ्ज – (13,14,15)

1. किसी ने पूछा तेरा कारोबार कितना है 

किसी मे पूछा तेरा परिवार कितना है 

कोई विरला ही पूछता है , तेरा गुरू से प्यार कितना है !!

2.  कश्तियाँ बदलने की जरूरत नही

 हर तूफ़ान को पार कर जायेगी

दिशा बदलते ही गुरू कृपा मिल जायेंगी !!

 3. न तक़दीर से शिकायत कर , हौसले बुलंद रख

मिलेंगे गुरू ख़ुद बख़ुद , 

बस आगे क़दम बढ़ाता चल !!

आपकी आभारी विमला मेहता 

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements

8 Comments Add yours

  1. जय सच्चिदानंद प्रेरणात्मक प्रस्तुति

    Liked by 1 person

  2. kishorkhatri says:

    gajab likha hai jai guru ji


    Liked by 1 person

  3. Madhusudan says:

    क्या खूब लिखा है,बहुत ही बढ़िया।

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s