सहजता – जिंदगी की किताब (पन्ना # 272)

Good day to all divine souls … जब तक हो हमे सहज जीवन जीने की कोशिश करनी चाहिये ना कि कृत्रिम और आरोपित जीवन जीने की क्योकि कहा जाता है कि  जो कुछ भी सहजता से मिलता है वह दूध के समान श्रेष्ठ है ।  मॉगने से जो मिलता है वह पानी के समान है  और…

सुख की खोज – जिंदगी की किताब (पन्ना # 271)

एक आदमी सुख को पकड़ने के लिये उसके पीछे दौड़ा । सुख भागकर राजा के महल मे घुस गया ।आदमी उसके पीछे राजमहल मे पहुचॉ ,तो सुख राजमहल की खिड़की मे से निकलकर नीचे आ पहुचॉ। वह आदमी भी उसके पीछे कूद पड़ा ,तब तक सुख राजा के उद्यान मे चला गया । आदमी भी…