आजादी पर पैगाम-जिंदगी की किताब (पन्ना # 240)

15 अगस्त 1947 को हमारा देश आज़ाद हुआ उसी के सन्दर्भ मे एक कविता …

🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

हम सबको ग़ुलामी से आजादी ,इतनी आसानी से नही मिली थी 

उसमे शहीदों की क़ुर्बानी थी , तो एकता की भी कहानी थी ।

ग़ुलामी से आजादी तो मिल गई पर आज भी चारों और 

अनाचारी,दुराचारी,भ्रष्टाचारी,ग़द्दारी, शैतानो की कहानी है 

मातृभूमि शर्माये ,ऐसी राक्षसी हैवानी है 

आज भारत संस्कृति मे ,ऐसे क्रांति की जरूरत है

आपस मे बढ़े भाईचारा व प्रेम ,यही हमारी आत्मा का नूर है 

आंदोलन मे हिंसा ना अपनाकर,अहिंसक को अपनाना है

देश के धरोहर की रक्षा करना ,शिक्षा स्तर का सुधार करना है

छोटो बड़े इंसान मे ,कोई भेदभाव नही रखना है 

चाहे अमीर हो या गरीब , सुविधा सबको प्यारी है 

“मिले सबको रोटी ,कपड़ा और मकान” मनोकामना ऐसी सबकी जारी है 

चाहे हो कितने भी नारे ,यही एक नारा लगाना है 

यह सब उधारी के ख्वाब नही , हमे इसे नकद ही पाना है 

जागो ,अपने ह्रदय के किवाड़ खोलो

धर्मों पक्ष की दीवार तोड़ो ,परमात्मा से नाता जोड़ो 

अपने दिल को साफ़ बनाकर,मिटा दो हीनाचार और भ्रष्टाचार 

अपने फर्ज अधिकारो के प्रति ,सजग होकर उन्हे पूरा करना है 

हम सभी आजाद भारत के लाल हैं 

मातृभूमि कर्ज अदा करने के संग ,

शहीदों, देश भक्तो एवम मातृभूमि की सच्ची श्रद्धांजलि के संग 

देश भक्ति के लिये हर मायने में वफादारी का रंग चढ़ाना है 

तभी वह सच्ची देशभक्ति कहलायेगी

और आजादी की कीमत महसूस करायेगी 

🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

भारत माता की जय 

🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

जयहिंद

🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

आपकी आभारी विमला

Advertisements

2 Comments Add yours

  1. Madhusudan says:

    bahut khub likha…..ham sab ko waqayee men aajaadi khairaat men nahi mili thi……kal ki bhaati punah ham ho gaye hai……phir hamne barson ki gulami se kya sikha…..aur ….phir is ajaadi ke utsav ko manaane se kyaa milegaa jab ham apni kami aur kal ki kami se tulnaa naa kar sake.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s