जागरूकता की शुरूआत – जिंदगी की किताब (पन्ना # 215)

आज सब लोग परिवर्तन की बाते करते है चाहे वह देश या समाज की हो या किसी अन्य क्षैत्र की हो । सभी समाज मे परिवर्तन लाने चाहते है उसे बदलना चाहते है पर उसकी शुरूआत अपने आप से नही करते बल्कि यह सोचते है कि पहले देश सुधरे ,समाज सुधरे तो फिर वह सुधरेंगे ।

 वह यह नही सोचते है कि व्यक्ति के स्वयं सुधरे बिना समाज नही सुधर सकता क्योकि व्यक्तियो के समूह से ही समाज व उनसे देश बनता है । इस समय इंसान समाज का ना सोचकर हर समय अपने सुख के बारे मे ,धन संग्रह के बारे मे ,मान प्रतिष्ठा के बारे मे ,भौतिक सुख सुविधाओं के बारे मे सोचता रहता है ।

सबमे परिवर्तन लाने के लिये व्यक्ति को सबसे पहले व्यक्तिवादी बनना पड़ेगा ।अपने आप को सुधारने की शुरूआत करनी होगी ,तभी वह औरो को सुधार के लिये दिशा दे सकता है । इसको इस दृष्टान्त से समझा जा सकता है 

स्कूल मे किसी उत्सव पर सभी विद्यार्थियों को एक बडे मैदान मे चॉकलेट बॉटी गई । सभी विद्यार्थी चॉकलेट खाकर उसका कवर जमीन पर फैंक रहे थे । उत्सव समाप्त होने पर सभी बच्चे अपने अपने क्लास रूम की और दौड़ने लगे लेकिन विदि वही मैदान मे खडी रही और जगह जगह पड़े चॉकलेट के कवर इकट्ठे करने लगी । उसको देखकर दूसरे बच्चे भी उसकी सहायता करने लगे । अध्यापको ने भी देखा और उन्हे अहसास हुआ तो वो सब भी बिखरे कवर को जमा करके कूड़ेदान मे डालने का कार्य करने लगे ।देखते देखते चंद मिनटों मे पूरा ग्राउंड साफ़ हो गया । स्कूल की तरफ से विदि को बेस्ट स्टूडेंट के अवार्ड से सम्मानित किया गया ।
इसके अलावा जाति पाँति ,भेदभाव आदि को भूलकर अपना आत्मबल ज्यादा से ज्यादा विकसित करे । बुरी मनोवृत्ति का त्याग करे । इससे मैत्री ,एकत्व व समानता की भावना बढ़ेगी । जिसके फलस्वरूप व्यक्ति , समाज व देश मे सुधार आने की शुरुआत होगी ।
लिखने मे गलती हो तो क्षमायाचना 🙏🙏

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements

3 Comments Add yours

  1. Madhusudan says:

    BILKUL SAHI KAHAA AAPNE…..PARIWARTAN SABHI CHAHTE HAIN PARANTU BINAA KHUDH KO BADELE…….SACH MEN PARIWARTAN KE LIYE BYAKTIWAADI HONAA HI PADEGAA….BAHUT KHUB

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s