रिश्ते  – जिंदगी की किताब (पन्ना # 273)

Good day to all divine souls .... रिश्तो मे खुशियॉ हो या दर्द हो  चाहे जो कुछ भी हो  खुशियॉ हो तो बॉट लो  दर्द हो तो पी लो दर्द जिनको पीना आ गया दरअसल उसको जीना आ गया अनमोल मोती की तरह होते है रिश्ते जिनके गिर जाने पर  झुक कर उठा लेना चाहिये... Continue Reading →

Advertisements

सहजता – जिंदगी की किताब (पन्ना # 272)

Good day to all divine souls ... जब तक हो हमे सहज जीवन जीने की कोशिश करनी चाहिये ना कि कृत्रिम और आरोपित जीवन जीने की क्योकि कहा जाता है कि  जो कुछ भी सहजता से मिलता है वह दूध के समान श्रेष्ठ है ।  मॉगने से जो मिलता है वह पानी के समान है  और... Continue Reading →

सुख की खोज – जिंदगी की किताब (पन्ना # 271)

एक आदमी सुख को पकड़ने के लिये उसके पीछे दौड़ा । सुख भागकर राजा के महल मे घुस गया ।आदमी उसके पीछे राजमहल मे पहुचॉ ,तो सुख राजमहल की खिड़की मे से निकलकर नीचे आ पहुचॉ। वह आदमी भी उसके पीछे कूद पड़ा ,तब तक सुख राजा के उद्यान मे चला गया । आदमी भी... Continue Reading →

ज्ञान की ज्योति – जिंदगी की किताब (पन्ना # 270)

ज्ञान की ज्योति ज्ञान के दीप ज्ञान की ज्योति तुमने ऐसी जलाई जाग उठी तरूणाई जिन्दगी को महकाई भूल गया जीवन क्या है  क्या यह भी पुलकित होता है क्या यह भी रसमय होता है  अनभिज्ञ बना था इससे भी पाने वाला भी खोता है  भू ने स्नेह व्यथा है गाई तुमने ऐसी ज्योति जलाई... Continue Reading →

क्लेश – जिंदगी की किताब (पन्ना # 269)

जहॉ क्लेश नही वहॉ यथार्थ जैन, यथार्थ वैष्णव, यथार्थ शैव और अन्य .... यानि सभी धर्म है । जहॉ धर्म की यथार्थता है , वहॉ क्लेश नही होता ।  यदि घर घर क्लेश है तो धर्म कहॉ गया ? धर्म से हमने क्या सीखा ? क्या करने से परिवार मे क्लेश नही हो ,इतना भी... Continue Reading →

जिन्दगी के सातों रंग – जिंदगी की किताब (पन्ना # 268)

Good day to all divine souls ... पानी के बुलबुले पर  जब सूरज की किरणें पड़ती है तो  इन्द्रधनुष के सातों रंग दिखते है  जिंदगी के बुलबुले मे  जब पानी की तरह  उम्र की रवानी होती है  तब जिन्दगी के सातों रंग दिखते है  और साथ मे  एहसासों के सूरज की जवानी होती है ।... Continue Reading →

प्यार – जिंदगी की किताब (पन्ना # 266)

Good day to all divine souls ... रिश्ता चाहे जो भी हो पर  हर संबंधों मे निस्वार्थता का प्यार जरूरी है । जो बिन बोले भावनाओं को समझे वह सच्चा प्यार है । जो भावनाओं को समझ कर भी नासमझे वह कच्चा प्यार है । जो भावनाओं को बिल्कुल भी ना समझे वो दिखावे का... Continue Reading →

 परिवार – जिंदगी की किताब (पन्ना # 265)

जहाँ सूर्य की किरण हो, वही प्रकाश होता है । जहॉ चॉद की चॉदनी हो  वही शीतलता होती है । जहॉ समुद्र की गहराई हो  वही गम्भीरता होती है ।  जहाँ भगवान के दर्शन हो,  वही भव पार होता है । जहाँ संतो की वाणी हो, वही उद्धार होता है और    जहा प्रेम की... Continue Reading →

Blog at WordPress.com.

Up ↑