विचारणीय या समझने वाली बात…..

सन् 2002 मे डा० अब्दुल कलाम राष्ट्रपति पद के लिये चुनाव लड़ रहे थे, उनके चुनाव का काम-काज भाजपा नेता प्रमोद महाजन देंख रहे थे, क्योकि कलाम साहब को राजनैतिक अनुभव नही था। एक दिन प्रमोद महाजन ने कलाम जी से पूछा कि आपका नामांकन भरना हैं, मै किस दिन दस्तावेज लेकर आपके हस्ताक्षर लेने…

तरह तरह के आभूषण पहनने के पीछे वैज्ञानिक कारण ……

 महिला का श्रृंगार माथे की बिंदी से लेकर पांव में पहनी जाने वाली बिछिया तक होता है। इसमें हर एक चीज का अपना एक वैज्ञानिक महत्व है । इनको पहनने से शरीर पर सीधे रूप से सकारात्मक प्रभाव होता है। हिंदू महिलाओं में मांग मे सिंदूर ,माथे पर बिंदी,अँगूठी ,हाथो में चूड़ियां,पैरों में पायजेब ,नाक…

अच्छे कर्म ……

Good day to all divine souls… पूरी ज़िन्दग़ी इत्र लगाकर शरीर महकाया  फिर भी राख से सुगंध नहीं आयी इतना समझ आने पर अब  आओ,अच्छे कर्मो का इत्र लगायें  ताकि मरने के बाद  राख से भी कर्मो की खुशबु आये….. An outstanding message for lifetime… “You will definitely succeed in your life if you follow…