मेरी भावना …..

मेरी भावना …… यह सत्य है कि सभी को सुख चाहिये व दुखो से मुक्ति । दूसरे शब्दो मे यह बोल सकते है कि मुक्त सभी होना चाहते ,बंधन कोई नही चाहता । इसलिये सभी को नित्य कुछ ना कुछ अच्छी भावनायें करनी चाहिये ।  भावना चिंतन को कहते है ।व्यक्ति की जैसी भावना होती…

आज का नियम …..

Good day to all divine souls…. मकान बड़ा होने से साथ नही रहा जाता मन बड़ा होने से साथ रहा जाता …. Do not wait for leaders; do it alone, person to person.Yesterday is gone. Tomorrow has not yet come. We have only today. Let us begin. Love begins at home, and it is not…