हैपी मदर्स डे पर ये पैग़ाम

हैपी मदर्स डे पर ये पैग़ाम  यह एक दिन का गुणगान , एक दिन याद कराने वाला नही है डे करो हर रोज़ 365 दिन याद  तो बन जायेगा हर रोज़ डे ऑफ़ मदर डे Advertisements

मॉ के लिये कुछ पंक्तियाँ …

आज कुछ शब्द तुम्हारे नाम करती हूँ  माँ तुम्हें नमन तुम्हें प्रणाम करती हूँ…….. “रब ने मां को ये आज़मात कमाल दी    उसकी दुआ पर मुसीबत भी टाल दी  ऊपर वाले ने मां के प्यार की कुछ इस तरह मिसाल दी  कि जन्नत उठा कर मां के कदमों में डाल दी …” जो मॉगू…

Good day to all divine souls…

स्वीकार करने की हिम्मत और सुधार करने की नीयत हो तो इंसान बहुत कुछ सीख सकता है । अगर हम बिना संघर्ष के सफल होते हैं तो वह केवल जीत होती है पर अगर हम संघर्ष के साथ सफल होकर दिखाते हैं तो वह इतिहास बनता है ।