पॉलिथीन व व्यर्थ प्लास्टिक पर्यावरण के लिए घातक …. 

पॉलिथीन व व्यर्थ प्लास्टिक पर्यावरण के लिए घातक व बहुत ख़तरनाक हैं इसलिये पॉलिथीन का उपयोग छोड़कर पर्यावरण को दूषित होने से बचाने का प्रयास करना चाहिये।

पॉलिथीन शहर की गन्दगी का प्रमुख स्रोत होने के साथ मूक प्राणियों के लिये भी घातक है ।बेचारे निर्दोष जानवर खाने के चक्कर मे इन पॉलिथीन के बेग को भी निगल लेते है जो इनके लिये जानलेवा बनजाते है ।पॉलिथीन व प्लास्टिक कचरों का पूर्णतया नाश नहीं हो पाता।यह मिट्टी की उर्वरक क्षमता को अत्यधिक प्रभावित करते हैं। इसके कारण हमारे पर्यावरण पर दुष्प्रभाव पड़ता है। इसके अतिरिक्त नालों व नालियों में भी प्लास्टिक कचरा इकट्ठा होने से जाम होने का खतरा रहता है।

पॉलीथिन व प्लास्टिक कचरे पर आये दिन प्रतिबंध लगाए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं ।कोई दो राय नहीं कि पॉलिथिन व प्लास्टिक का कचरा हमारी धरती, पर्यावरण, स्वास्थय आदि सभी के लिए अत्यंत हानिकारक है।

पॉलिथीन प्रतिबंध राज्यों में पॉलिथीन बैग का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को तथा दुकानदारो दोनो को जुर्माना भुगतना पड़ता है । वहां पाए जाने वाले प्लास्टिक कचरे जो कि पर्यटकों के कारण पाए जाते हैं उन्हें भी समाप्त करने का उचित प्रबंध सरकार द्वारा किया गया है।इसके लिये जगह जगह बडे डिब्बे रखे गये हैं ताकि जनता व्यर्थ प्लास्टिक व पॉलिथीन को इधर उधर ना फेंक कर इस डिब्बे मे फैंके । इसी जागरुकता के चलते  ऐसे कचरे को खरीदने की व्यवस्था भी की गई है। इसके अतिरिक्त कई जगहों पर ऐसे प्लांट लगाए गए हैं जहां इन कचरों को रिसाईकल किया जाता है तथा बाद मे इसका इस्तेमाल सड़कों के निर्माण में किया जाता है। 

 इन हालात में हम इसी निष्कर्ष पर पहुंचते हैं कि ऐसे अनावश्यक कचरे को लेकर हम स्वयं सचेत व जागरुक बनें। इससे होने वाले नुकसान तथा इनके भविष्य के दुष्परिणामों को खुद अच्छी तरह समझें तथा इनके समूल नाश का उपाय ढूंढें। 

हमारी लापरवाही तथा अज्ञानता ही हमारे लिए दूषित पर्यावरण बाढ़,बीमारी,जानवरो का नुकसान तथा अन्य कई प्रकार की घटनाओ का कारण बनती है। जहां तक हो सके हम अपने घरों में ऐसे व्यर्थ कचरों को एकत्रित कर उन्हें स्वयं या तो समाप्त करें या रिसाईकल होने हेतु उसे किसी कबाड़ी की दुकान तक पहुचॉ दे । नाली,नालों व सड़कों पर ऐसे कचरे को नही फेंके तथा दूसरों को भी फेंकने से रोके ।

सब मिलाकर यही बोल सकते है कि पॉलिथीन शहर के गन्दगी का प्रमुख स्रोत होने के साथ मूक प्राणियों के लिये भी घातक है ।

अगर स्वच्छ सुन्दर प्रदुषण मुक्त राष्ट्र चाहिए तो हम सब कपडे या कागज की थैली का प्रयोग करे और घर-घर भी बाँटे 

कुछ लिखने मे गलती हो तो क्षमायाचना 🙏🙏

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s