आत्मविश्वास यानि सफलता की पहली सीढ़ी ….. 

मनुष्य में आज सबसे बड़ी शक्ति और ताकत है विश्वास।आत्मविश्वास लोगों को एक ऐसी शक्ति देता है जो इसके बल पर पूरी दुनिया को बदलने का दम रखता है । अगर आप में आत्मविश्वास है तो आप किसी काम को शुरू करने से पहले ही जीत चुके हो ।आत्मविश्वास पैसे से अधिक कीमती है । जब आप आत्मविश्वास से भरे होते है तब आप बहुत आनंद उठाते हुये दुनिया मे बहुत अद्भुत चीजे कर सकते है ।
आत्मविश्वास पर कहानी …..
एक बड़े शहर मे गरीबदास नाम का व्यक्ति रहता था। नाम के मुताबिक़ वह बहुत गरीब था लेकिन दिल का अमीर था । वह धर्म-कर्म और ईश्वर में बहुत विश्वास रखता । वह सांसारिक और आध्यात्मिक जगत दोनो मे इतना आत्म-विश्वासी था कि इसी गुण के कारण गरीब होते हुये भी उसका सभी सम्मान करते थे। साथ मे एक खासियत यह भी थी कि उसकी छठी इन्द्रिय जाग्रत होने से एकदम से उसकी दिल से निकली बात सही निकलती थी । उसके आत्मविश्वास के अनेक क़िस्से चर्चा के विषय बने हुये थे । गरीबी की अवस्था में काफी समय बीत गया। एक दिन वह किसी जंगल के पास से गुजर रहा था तो उसे ऐसा महसूस हुआ कि इस स्थान पर जमीन में काफी सोना दबा है। उसको अपने आप पर बहुत आत्मविश्वास था ।वह प्रायः सभी व्यक्तियों को कहता रहता था कि मेरा दिल ,मन इतने साफ और विकार रहित हैं कि उनमें भविष्य मे होने वाली घटना के दृश्य भी ऐसे प्रकट हो जाते हैं, जैसे उन्हें मैं सचमुच देख रहा हूँ। जब गरीबदास का विश्वास दृढ़ हो जाता तो फिर उस कार्य की सफलता में कुछ सन्देह भी नहीं रह जाता था ।
गरीबदास के पास धन नहीं था फिर भी उसने अपने पास जो कुछ भी था उसको बेचकर ,एक मित्र से धन की सहायता प्राप्त करके जंगल वाली जमीन खरीद ली और वहाँ खुदाई प्रारम्भ कर दी। दुर्भाग्य से वहॉ कुछ चाँदी के टुकड़े ही मिले ।

थोडे दिनो बाद ही उसकी मृत्यु हो गयी। मरने से पूर्व उसने अपने उसी मित्र को जमीन उसके नाम की करते हुये एक संदेश लिखा कि मेरी जो बात दिल से निकलती है, वह कभी झूठ नहीं होती। मुझे सोना नहीं मिला इसका मुझे कोई अफ़सोस नही हैं लेकिन अभी भी पूरे विश्वास के साथ यही कहूँगा कि उस स्थान पर सोना अवश्य है ।इतना अधिक आत्मविश्वास था गरीबदास का ।
मृत्यु के कुछ साल बाद उसके मित्र ने ,जिसको गरीबदास के आत्म-विश्वास पर बहुत भरोसा था, फिर से उस जगह पर खुदाई का काम शुरू करवाया। काफी फीट तक खुदाई करने के बाद वहाँ सोने, चाँदी, के भंडार मिले। इससे उस मित्र को लाखो रूपये का लाभ हुआँ।
बाद मे उसने गरीबदास के नाम से एक गरीब बच्चों का स्कूल खुलवाया जिसमें बच्चों को मुफ़्त मे शिक्षा दी जाती । बच्चों को गरीबदास के पूरे जीवन के बारे मे बताया जाता तथा साथ मे उसके आत्मविश्वास की चर्चा करते हुये बच्चों के भी आत्मविश्वासी होने की प्रेरणा दी जाती ।
बड़े काम करने के लिए आत्मविश्वास पहली सीढ़ी है। आत्म-विश्वास सबसे बड़ा दोस्त है । खुद पर यकींन करो और अपनी क्षमताओं पर विश्वास करो. बिना अपनी क्षमताओ पर विश्वास किये बिना आप सफल या खुश नहीं हो सकते

 आत्मविश्वास इंसान को एक खास इंसान बना सकता है ।दुनिया में बहुत सारे ऐसे लोग है जिन्होंने बहुत सारी नाकामयाबियों के बाद कामयाबी सिर्फ अपने आत्मविश्वास के बल पर हासिल की हैं ।इसलिए हम सभी को भी आत्मविश्वासी बनना चाहिए ।
आत्मविश्वासी व्यक्ति जिंदगी में जो भी काम करता है पुरे विश्वास के साथ बिना किसी शंका के करता है और जीवन में तब तक काम करता रहता है जब तक कि उसे सफलता ना मिल जाए ।वह सोचता है कि मैं यह कर सकता हूं ।
जो आत्मविश्वासी लोग होते हैं वह किसी भी परिस्थिति में निराश या हताश नहीं होते हैं अगर उन्हे किसी काम मे सफलता मिलती है तो वह खुश होते हैं लेकिन अगर उन्हें असफलता मिलती है तो वह निराश या हताश नहीं होते । ऐसे व्यक्ति हमेशा अटूट विश्वास के साथ काम करते है जब तक कि सफलता ना मिल जाए । 
आत्मविश्वासी व्यक्ति दूसरे पर निर्भर नहीं होते हैं । 
आत्मविश्वासी हमेशा विनम्रता वाले होते हैं ।
आत्मविश्वासी व्यक्ति में अहंकार बिल्कुल भी नहीं होता है,
आत्मविश्वास एक इन्सान का एक ऐसा गुण है जो जिस इन्सान के पास भी होता है वह बड़ा ही किस्मत वाला होता है अपने आत्मविश्वास को मज़बूत कीजिये । सांसारिक तथा आध्यात्मिक जगत दोनो जगह सफलता पाईये ।

जय सच्चिदानंद 🙏🙏
लिखने मे गलती हो तो क्षमायाचना 🙏🙏

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s