उफ़ इतनी गर्मी…..क्या कारण ….कैसे छुटकारा पाये ….
पेड़ हमें प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष जीवन प्रदान करता है । प्रकृति की तरफ से धरती पर दिया गया ये सबसे अनमोल उपहार है ।क्योंकि ये ऑक्सीजन देता हैं ,बारिश का स्रोत है।साथ ही साथ पृथ्वी को भी हराभरा बनाता हैं । पेड़ हमारी सेहत से भी ताल्लुक रखता हैं ।ये ऑक्सीजन, ठंडी हवा, फल, मसाले, सब्जी, दवा, पानी, लकडी ,फर्नीचर, छाया, जलाने के लिये ईंधन, घर, जानवरों के लिये चारा ….आदि बहुत कुछ उपयोगी वस्तुयें देता है। पेड़ सभी जहरीले गैसों से हवा को ताजा करता है और हमें वायु प्रदूषण से बचाता है।

हमें अपने जीवन में पेड़ के महत्व को समझना चाहिये ।

भारत के कुछ शहरों मे अधिकतम तापक्रम ….

करीबन ….

लखनऊ 47 डिग्री। दिल्ली 47 डिग्री

आगरा 45 डिग्री। नागपुर 49 डिग्री

कोटा 48 डिग्री। हैदराबाद 45 डिग्री

पूना। 42 डिग्री। अहमदाबाद 46 डिग्री

मुंबई 42 डिग्री। नासिक 40 डिग्री

बंगलौर 40 डिग्री। चेन्नई 45 डिग्री

आज के तापमान को देखकर यूँ लगता है कि अगले साल इन शहरों का तापमान लगभग 50 डिग्री के पार हो जायेगा।
आपने सोचा है -आखिरकार इतनी गर्मी क्यूँ बढ़ रही हैं ?
पिछले दस सालों से हाईवे और रोड सड़क को बढ़ाने के लिये क़रीबन 10 करोड़ तो पेड कट चुके हैं लेकिन जनता या सरकार द्वारा नये पेड़ लाखों की संख्या मे भी नही लगाये गये 
फिर कैसे तापमान कम होगा ?
सरकार की तरफ से पेड़ लगाने का इंतज़ार छोड़कर हम सब मिलकर भी पेड़ लगाने की शुरूआत कर सकते है ,ख़र्चा ज्यादा भी नही है 
अब हमें क्या करना है ….उदाहरण के लिये हमें सतावरी,बेल ,पीपल,तुलसी,आम,नींबू ,जामुन,नीम,कस्टर्ड ऐपल,जेक फ्रुट ….किसी के भी बीज लेने हैं और साईड रोड ,फुटपाथ ,हाईवे ,बग़ीचा ,या अपनी सोसाइटी ,बंगला मतलब की अपनी सुविधानुसार कोई भी समतल भूमी को दो या तीन इंच खोदकर इन बीजों को उसमें खाद सहित डालना हैं और हर एक दिन छोड़कर पानी डालना हैं ।15-20दिन बाद उसमें से अंकुरण फूटने लगेंगे ।बारिश मे तो पानी की भी डालने की ज़रूरत नही है ।

यदि हम सब मिलकर यह करे तो वह दिन दूर नही जहॉ दुबारा पेड ही पेड देखने को मिलेंगे।इस तरह बढ़ते हुये तापक्रम को रोककर काफी हद तक गर्मी से राहत पा सकते हैं।साथ ही साथ पर्यावरण को भी प्रदूषित होने से बचा सकते हैं ।
इस मैसेज को अधिक से अधिक शेयर करे ।

🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s