जिंदगी से प्यार ….

दोस्तों जिंदगी एक रंगीन किताब की तरह हैं ,उसे दिल से पढ़ो । जिंदगी एक अभिलाषा भी हैं ,खुशी से संवर जाये तो जन्नत हैं । जिंदगी एक सुहावना सफर हैं ,हम हर समय क्यूँ डरे कि  जिंदगी मे आगे क्या होगा या बुरा ही होगा । इस दुनिया में हम कर्मो के हिसाब से…

Quote #

कुछ कह गए, कुछ सह गए कुछ कहते कहते रह गए मैं सही ,तुम गलत के खेल में न जाने कितने रिश्ते ढह गए आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote

बेटियॉ मायके से खाली पेट आकर भी ससुराल मे भरा पेट बताती है ना जाने कहॉ से ये हुनर लाती है कुछ भी कहो दोस्तो बेटियॉ हर संभव दोनो घरों की इज्जत पर ऑच ना आने देती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote

जिस व्यक्ति को आपके रिश्तों की कदर नहीं है उसके साथ खड़े रहने से अच्छा है आप अकेले खड़े रहें यह अभिमान नहीं है, स्वाभिमान है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 404

कैसे हो अच्छे इंसान की पहचान जब दोनो ही नक़ली हो गये ऑसू और मुस्कान आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 403

जिस घर मे बडे नरम छोटे नरम उस घर मे है शुभ कर्म जिस घर मे बडे नरम छोटे गरम उस घर मे है बेशर्म जिस घर मे बडे गरम छोटे नरम उस घर मे है शर्म जिस घर मे बडे गरम छोटे गरम उस घर मे फूटे कर्म आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद…

पर्यषण पर्व # जिंदगी की किताब (पन्ना # 385)

कर्म खपाने का श्रेष्ठ पड़ाव पर्व पर्युषण 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 उपवास में कमीं रह भी जाए तो.. उपहास से अवश्य बचना, दर्शन में कमीं रह भी जाए तो… प्रदर्शन से अवश्य बचना, वन्दन में कमीं रह भी जाए तो.. बंधन से अवश्य बचना, प्रवचन श्रवण में कमीं रह भी जाए तो… दुर्वचन से अवश्य बचना, केश लोचन…

Quote # 402

जिन्दगी भर का बंधन है साजन ,इसको निभाऊंगी मै महक उठे तेरी दुनियाँ का हर एक कोना हर साँस के साथ इसको सजाऊंगी मै ले ले इम्तिहान ज़िन्दगी कितने भी निष्ठा अपनी कभी डगमगा ना पाऊँगी मै आएगी यदि कोई विपदा तुम पर बनकर ढाल सामने खड़ी हो जाऊंगी मै सदा इस रिश्ते की पवित्रता…

Quote # 401

महाभारत की शुरुआत तब होती है जब बिना हक का लेने का मन होता है लेकिन जब अपने हक का भी छोड़ देने का मन होता है तब रामायण की शुरुआत हो जाती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #400

स्वाद और विवाद दोनों ही छोड़ देना चाहिए स्वाद छोड़ो तो शरीर को फायदा विवाद छोड़ो तो सम्बन्धों को फायदा आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

लोभ # जिंदगी की किताब (पन्ना # 384)

🌸भूमिका के हिसाब से लोभ लालच सब मे होता है फर्क इतना है कि किसी मे ज्यादा होता है तो किसी मे कम होता है 🌸लेकिन लोभ करने का आधार सही होना चाहिये ।यदि कोई इंसान धन ,पैसे , गोरख धंधे की चाह मे लोभ करता है तो वह अशान्ति देता व इसके लिये पाप…

Quote # 399

सॉझ सूरज को ढलना सिखाती है शमा परवाने को जलना सिखाती है ठोकर खाने पर दर्द होता जरूर पर वही इंसान को चलना सिखाती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 398

विश्वास , वक्त और इज्जत ऐसे परिंदे है जो एक बार उड़ जाये तो वापस नही आते । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏